पीलीभीत : जेल में बंदी की मौत परिजनों ने लगाया हत्या करने...

पीलीभीत : जेल में बंदी की मौत परिजनों ने लगाया हत्या करने का आरोप

10
0
SHARE

पीलीभीत: हत्या के मामले में सजायाफ्ता चल रहे 58 वर्षीय बंदी हेमराज पुत्र श्यामबिहारी की जिला कारागार में मौत हो गई। परिजनों ने जेल प्रशासन पर हत्या का आरोप लगाते हुए पोस्टमार्टम हाउस पर जमकर हंगामा किया। सूचना मिलने पर एसडीएम और सीओ फोर्स संग पहुंचे और समझाबुझा कर पोस्टमार्टम कराया। हालांकि जेल अधिकारियों के मुताबिक उसकी मौत बीमारी के कारण हुई है। हेमराज को अपने बेटे की हत्या के आरोप में सितंबर 2018 में अदालत ने आजीवन कैद की सजा सुनाई थी।

मूल रूप से कोतवाली बीसलपुर क्षेत्र के ग्राम ईटारोडा निवासी हेमराज पर तीन दिसंबर 2016 को अपने पुत्र इंस्पेक्टर ¨सह की हत्या गोली मारकर कर देने का आरोप लगा था। जिसके बाद हेमराज की पुत्री सुमन ने अपने पिता के खिलाफ बीसलपुर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था। ट्रायल होने के बाद सितंबर 2018 में अदालत ने उसको आजीवन कैद की सजा सुना दी थी। तब से वह जेल में ही बंद था। बुधवार सुबह उसकी तबियत बिगड़ने पर जेल प्रशासन ने उसे जिला अस्पताल भिजवाया। यहां डॉक्टरों ने चेकअप के बाद उसको मृत घोषित कर दिया। सूचना परिजनों को मिली तो वह लोग भी आ गए। पुलिस ने पंचायतनामा भरने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। हेमराज की नाक क्षतविक्षत होने और माथे, आंख पर चोट के निशान होने के बाद परिजनों ने पोस्टमार्टम हाउस पर हंगामा करना शुरू कर दिया। हंगामे की सूचना मिलने पर एसडीएम, सीओ सिटी धर्म ¨सह मार्छाल, इंस्पेक्टर कोतवाली किरन पाल ¨सह फोर्स के साथ पहुंचे। अफसरों की परिजनों और ग्रामीणों से तीखी नोंकझोंक हुई। ग्रामीण जेल प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग पर अड़ गए। लगभग दो घंटे की मशक्कत के बाद तहरीर देने के बाद ही परिजन पोस्टमार्टम कराने पर राजी हो सके। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों की सुपूर्दगी में दे दिया गया।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY