Pilibhit : केंद्रीय मंत्री मेनका संजय गांधी ने बिलसंडा क्षेत्र में की...

Pilibhit : केंद्रीय मंत्री मेनका संजय गांधी ने बिलसंडा क्षेत्र में की जनसभाएं सुनी जनता की समस्याएं

24
0
SHARE

केन्द्रीय मंत्री मेनका संजय गांधी ने रविवार को बिलसंडा क्षेत्र के 11 गांवों में सभाएं की। सरकार की योजनाएं गिनाते हुए पब्लिक की समस्याएं सुनीं। खुद को पीलीभीत वासियों की मां बताया। कहा कि वे यहां एक सांसद और मंत्री के रूप में नहीं बल्कि एक मां के रूप में आती हैं।
आज पूरे हिन्दुस्तान में उन्हें जो ताकत मिली है वो सब यहां के ही लोगों की दी हुई है। खुद को हर वक्त गरीब, किसान, असहायों के साथ खड़े होने की बात कहते हुए कहा कि यहां की सभी बेटियां उनकी हैं। और पहले की तरह फिर से मैं उनका कन्यादान करूंगी। जिसे अपने बेटे बेटियों की शादी करानी हो वे मेरी ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में अपना रजिस्ट्रेशन करा सकता है। मंच से ही उन्होंने उसके फार्म भी बांटे। कहा कि अब तक जिले में वह 750 बेटियों के हाथ पीले करने का सौभाग्य पा चुकी हैं। यह रिश्ता और सिलसिला हमेशा यूं ही चलता रहेगा। केन्द्रीय मंत्री का काफिला सबसे पहले दियोकलिया, फिर भैनपुरा, भरकनिया, करनपुर चक्र, टेड़ाश्रीराम, घुंघौरा, मीरपुर हर्रई, फिरसाह चुराह, नगरारता, नगरिया तिलागिरि व सिमरा महीपत गांवों में पहुंचा। खुद को आमजन का हितैषी बताते हुए पहले उन्होंने भावनात्मक भाषण दिया। सभाओं में मेनका ने सरकार की विभिन्न योजनाओं में सबसे पहले गांवों के विद्युतीकरण और सौभाग्य योजनाओं का जिक्र किया। कहाकि जिले का हर गांव विद्युतीकृत होने जा रहा है। करीब 80 फीसदी से ज्यादा पीलीभीत जिला विद्युतीकृत हो चुका है। लोगों से उन्होंने कनेक्शन लेकर खुद के जीवनस्तर और ऊपर उठाने की अपील की। गांवों में लोगों को शौचालय मिलने न मिलने की बात पूछी और कहाकि जिले में अब तक 1 लाख 80 हजार शौचालय बन चुके हैं। जिन लोगों को अभी शौचालय नहीं मिला है वे अपनी सूची उनतक भेजें सभी को शौचालय दिलाया जाएगा। मुद्रा योजना से हर किसी को रोजगार मिलने की बात कही। कहाकि जिले में 77 हजार से ज्यादा लोगों को मुद्रा योजना के तहत पचास हजार से लेकर पांच लाख का लोन दिया गया है। कुछ लोगों ने बैंक प्रबंधकों की शिकायत की। कहाकि महीनों टरकाने के बाद भी लोन नहीं मिलता। जिसपर मेनका ने ऐसे बैंक प्रबंधकों को सुधरने की नसीहत देते हुए कार्रवाई की बात कही। जनधन योजना के जिले में लाखों खाते खुले होने के बाद भी किसी एक के पास रूपै कार्ड न होने पर भी मेनका चिंता जताई। कहाकि रूपै कार्ड न होने से लोगों को इस खाते का लाभ ही नहीं मिल पाता है। लोगों से अपील की कि वे रूपै कार्ड बनबाएं। आयुष्मान योजना की जानकारी देते हुए गांवों में आशा कार्यकत्रियों को निर्देशित किया कि जिन लोगों का नाम इसमें हैं उन्हें उसकी सूचना दी जाए। जिससे परिवार को पांच लाख तक का मुफ्त में इलाज मिल सके। सभाओं में मेनका ने कहाकि पुलिस, प्रशासन, पटवारी से लेकर कोई भी जायज बात अगर न सुने तो किसी भी वक्त आप लोग मुझे फोन कर सकते हो, मैं आपके साथ हूं। मेनका ने अफसरों को भी जनता के प्रति संवदेनशील होने की बात कही। सभाओं में केन्द्रीय मंत्री के सभी प्रतिनिधि बंटी गुप्ता, नरेन्द्र मोहन सक्सेना, अचल दीक्षित, भरत शर्मा, नरेन्द्र गंगवार, महीप सिंह, बबलू चौहान, प्रभात शंखधार, प्रकाश शर्मा समेत तमाम लोग मौजूद रहे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY