पीलीभीत: कई मांगो को लेकर कलेक्ट्रेट कर्मचारीयों ने किया कार्य बहिष्कार

पीलीभीत: कई मांगो को लेकर कलेक्ट्रेट कर्मचारीयों ने किया कार्य बहिष्कार

9
0
SHARE

पीलीभीत : कलेक्ट्रेट का नाम जनपद सचिवालय रखे जाने समेत कई मांगों को लेकर उत्तर प्रदेश मिनिस्टीरियल कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने दूसरे दिन कार्य बहिष्कार किया। मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन अपर जिलाधिकारी न्यायिक को सौंपा गया।

कलेक्ट्रेट स्थित मिनिस्टीरियल कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ भवन पर कर्मचारियों ने धरना देकर कार्य बहिष्कार किया। प्रांतीय प्रतिनिधि गजेंद्र पाल ¨सह ने सभी कर्मचारियों का प्रांतीय आह्वान पर किए गए आंदोलन में सक्रिय भागीदारी पर आभार जताया। मंडलीय मंत्री नवल सक्सेना ने कहा कि संघ की मांगों पर विचार के बाद संस्तुतियां शासन को राजस्व परिषद को भेजी जा चुकी है। इस संबंध में प्रांतीय नेतृत्व ने मुख्यमंत्री को भी ज्ञापन दिया जा चुका है। राजस्व परिषद की संस्तुतियों पर अभी तक कोई निर्णय न करना कर्मचारियों के हित में नहीं है। अगर समस्याओं का समाधान नहीं किया जाता है, तो जोरदार आंदोलन किया जाएगा। जिला मंत्री अश्वनी राजा ने कहा कि कर्मचारियों की सभी मांगों को विचार के बाद शासन स्तर पर संस्तुतियां लंबित है। अगर शासन ने कोई निर्णय नहीं लिया है तो प्रांतीय नेतृत्व के निर्देश पर कलेक्ट्रेट कर्मचारी जोरदार आंदोलन करेंगे। इसके लिए कर्मचारियों को एकजुटता दिखानी पड़ेगी। मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन अपर जिलाधिकारी न्यायिक देवेंद्र प्रताप मिश्र को सौंपा गया। ज्ञापन देने वालों में प्रशासनिक अधिकारी मदनलाल, सुनील शर्मा, ज्वाला प्रसाद गंगवार, राजपाल, वीरेंद्र ¨सह, संजीव सहगल, चंद्रकांता, हेमा गुप्ता, हरदेवी, अनीता वर्मा, सुधीर शर्मा, अमित सक्सेना, संजीव सक्सेना, सुभाष चंद्र, इंद्रजीत, कांता प्रसाद, रामपाल, शंकरलाल, नरेश वर्मा, विपिन पांडेय, प्रियांशु पांडेय, विजय ¨सह राना, विवेक शर्मा, महिपाल शरण, संदीप सक्सेना आदि शामिल रहे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY